एक ऐसी लेखिका जो अपनी मातृ भाषा जितनी अच्छी जानती हैं , उतना ही उनका अँग्रेज़ी और रूसी भाषा पर समानाधिकार है . बचपन में अपने इंजीनियर पिता के साथ होली के साहित्यिक टाइटिल बनाने वाली आज खुद ही बहुत अच्छी कविताएँ और आलेख लिखती हैं . टी वी चेनल्स हेतु आलेखों के साथ साथ हिन्दी - अँग्रेज़ी - रूसी भाषा अनुवाद भी वे बखूबी करती हैं ॥

उनके अनुसार अँग्रेज़ी अथवा अन्य भाषाएँ जानना उतने गर्व की बात नही है , जितना अपनी मातृ भाषा हिंदी को महत्व देना गर्व की बात है । अपने मनोभाव कागज पर उतारना उन्हें अच्छा लगता है। जिसे ही वे अपना साहित्य मानती हैं ॥

ग़ज़ल सुनना, कविताएँ लिखना , पेंटिंग करना , ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण करना आदि उनकी अभि रुचियाँ उनके बहुआयामी व्यक्तित्व को उजागर करती हैं . मृदुभाषी और सकारात्मक दृष्टिकोण वाली यह लेखिका आज के दौर में "ब्लॉग्स" को अपनी अभिव्यक्ति का सबसे अच्छा माध्यम मानती हैं।

जानते हैं कौन है वह ?

वह हैं श्रीमती शीखा वार्ष्णेय

जिन्हें ब्लोगोत्सव की टीम ने वर्ष की श्रेष्ठ लेखिका (यात्रा वृत्तांत) का खिताब देते हुए सम्मानित करने का निर्णय लिया है ।

विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ किलिक करें

35 comments:

  1. शिखा को बहुत बहुत बधाई.....स्नेह और शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  2. विस्तृत जानकारी के लिए क्लिक करने पर रवि जी का परिचय आ रहा है....प्रभात जी से निवेदन है कि ज़रा देखें....

    उत्तर देंहटाएं
  3. bahut bahut badhayee shikhaa jee aur bahut se purasakar raah tak rahe hain aap kee dekhen un ko kab sammanit kartee hain aap

    उत्तर देंहटाएं
  4. मुबारक बाद स्वीकार कीजिये शिखा जी...ख़ुशी हुई..
    शहरोज़

    उत्तर देंहटाएं
  5. शिखाजी को बहुत-बहुत बधाई

    अच्छा लगता है जब कोई अच्छा लिखने वाला सम्मानित होता है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. वो निश्चित ही इस सम्मान की हकदार हैं... बधाई.. आपका आभार..

    उत्तर देंहटाएं
  7. शिखा को बहुत बहुत बधाई....सचमुच वह इस सम्मान की हकदार है..अनेकों शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  8. आप सभी का तहे दिल से आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह वाह वाह

    शिखा जी को ढेर सारी बधाईयाँ

    बधाईयाँ और बधाईयाँ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. बधाई स्वीकार करें आदरणीय शिखा वार्ष्णेय जी !!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत बहुत बधाई..शुभकामनाएँ ..शिखा जी को. अब तो बिना पार्टी के काम नहीं बनेगा. :)

    उत्तर देंहटाएं
  12. शिखा जी शिखर पर

    इधर प्रसन्‍नता शिखर पर

    शुभकामनाएं झोली भर कर

    उत्तर देंहटाएं
  13. शिखा जी ,
    समीर जी के साथ मैं भी हूँ ......हो जाये ....???

    उत्तर देंहटाएं
  14. शिखा जी ने थोड़े ही समय में अपनी एक विशिष्ट पहचान बना ली है ब्लॉग जगत में -
    वे अपनी रचनाओं में बेबाक रहती हैं और गलदश्रु नहीं बहातीं (dont get maudlin!) ,नारी चेतना का अहसास है मगर यह आरोपित नहीं होता बल्कि सहज और रचना की गति के साथ एकसार रहता है ....और यह उनके वैश्विक अनुभवों की देंन हैं .
    बनावटी छुईमुईपन से भी परहेज है उनका -और... और... भारतीय बोध की वे एक विशिष्ट रचनाकार हैं ..
    उनका चयन सर्वथा उचित स्वागत योग्य है ! बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  15. शिखा जी को बधाई . उनके सम सामयिक आलेख भी काफी प्रभावशाली होते है.

    उत्तर देंहटाएं
  16. शिखा जी वर्ष के दूसरे सम्मान हेतु हार्दिक बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  17. शिखाजी आपको बहुत बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  18. शिखा जी को बहुत-बहुत बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  19. शिखा को बहुत बहुत बधाई.....

    उत्तर देंहटाएं
  20. इस सम्मान के लिए मेरी शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  21. शिखाजी को बहुत-बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  22. shikha ji,
    bahut bahut badhai aapko. yun hin aap safalta ke uchatam shirsh par pahunchein, shubhkaamnaayen.

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top