कहा जाता है कि -" जिस टिप्पणी में दर्शन नहीं वह टिपण्णी कहाँ ?" वह तो मरे हुए कुछ शब्दों की शवयात्रा है . ...!
टिप्पणी तो शब्द-शब्द से दर्शन टपकाती है . टिप्पणी में जीवन दर्शन नहीं हो तो उसकी कोई प्रासंगिकता नहीं होती वह तो निष्प्राण होती है . चूँकि टिप्पणी पत्थरों तक में प्राण-प्रतिष्ठा करती है , इसलिए उसका महत्व साहित्य की तमाम विधाओं से कहीं ज्यादा है .

एक ऐसी गीतकार जो गीत रचती है, गीत बांचती है ...यहाँ तक कि गीत जिसका ओढ़ना-बिछौना है , गीत जिसका स्वप्न है , गीत जिसका खिलौना है....जो अपने नाम के साथ गीत लिखना पसंद ही नहीं करती, अपितु गीत जिसकी प्राण-उर्जा है ऐसा महसूस करती है .

किन्तु आपको यह जानकर सुखद आश्चर्य होगा कि ब्लोगोत्सव-२०१० में प्रस्तुत उनकी टिप्पणी इतनी सारगर्भित रही कि उन्हें ब्लोगोत्सव की टीम ने उन्हें वर्ष की श्रेष्ठ महिला टिप्पणीकार का खिताब देते हुए सम्मानित करने का निर्णय लिया है !
जानते हैं कौन हैं वो ?
वो हैं श्रीमती संगीता स्वरुप जी !
विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ किलिक करें

34 comments:

  1. बधाईयाँ जी घणी घणी बधाईयाँ

    संगीता जी को

    उत्तर देंहटाएं
  2. संगीता जी को बहुत बहुत बधाइयाँ।

    प्रमोद ताम्बट
    भोपाल

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बहुत बधाई ! अनन्त शुभकामनाएं ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. संगीता जी को बहुत बहुत बधाइयाँ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाकई संगीता जी की टिप्पणियों का जबाब नहीं होता
    बहुत बहुत बधाई दी !

    उत्तर देंहटाएं
  6. badhaaaaaayi khoob saari....:):) aapne meri creations par bhi apni bahumoolya tippanyaan di hain Mumma........aur sach mein aapke har ek comment kuch aisi rahi hai...k kya kahoon..............:):):)

    bas badhayi hai dher saari..:D :D

    उत्तर देंहटाएं
  7. टिप्‍पणीकारिता एक स्‍वतंत्र विधा का रूप लेगी। हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग ने टिप्‍पणी को नए-नए आयाम दिए हैं। पोस्‍टों पर टिप्‍पणियों की जंग ब्‍लॉग जाहिर है। लीजिए संगीता जी के लिए बधाई टिप्‍पणी स्‍वरूप हाजिर है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. हार्दिक बधाई संगीता जी।

    उत्तर देंहटाएं
  9. संगीता जी की टिप्पणियों का जबाब नहीं होता…………………सच इस सम्मान की वो हकदार हैं……………संगीता जी को बहुत बहुत बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  10. संगीता जी को बहुत बहुत बधाइयाँ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. संगीता जी को बहुत बहुत बधाइयाँ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. संगीता जी की टिप्पणियाँ हमेशा सारगर्भित होती हैं और उत्साहवर्द्धन करती हैं....बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  13. बधाई. टिप्पणी हर ब्लागर के ज़रूरी खुराक़ होती है.

    उत्तर देंहटाएं
  14. संगीताजी को बहुत बहुत बधाई |

    उत्तर देंहटाएं
  15. संगीता जी को बहुत बहुत बधाइयाँ....

    उत्तर देंहटाएं
  16. आप सभी का हार्दिक धन्यवाद....अपने बारे में आप सब के विचार जान कर अभिभूत हूँ ....
    सभी का साथ यूँ ही मिलता रहेगा ..इसी कामना के साथ

    संगीता

    उत्तर देंहटाएं
  17. संगीता (गीत ) के प्रति मन कृतज्ञता से भर जाता है -जो एक मिशनरी जील से बिना प्रति टिप्पणियों की अपेक्षा किये लोगों के ब्लागों पर जाती हैं और अपने विचार पुष्प छोड़ आती हैं .जबकि कईं लोग इतने स्नाब हैं की लौट कर कभी कृतज्ञता ज्ञापन तक नहीं करते !

    उत्तर देंहटाएं
  18. Sachmuch...is samman ki haqdar to sachmuch hain sangeeta ji...aur manna padega blogotsav ko jisne istni paini nazar poore blogjagat pe rakhi hai..bahut bahut badhai mumma...

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत बहुत बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  20. पुन: सबका शुक्रिया ..

    अरविन्द जी ,

    आपके शब्द नयी उर्जा प्रदान करने वाले हैं....लेकिन मैंने ऐसा कुछ नहीं किया है जो कोई कृतज्ञता ज्ञापन की बात हो ....सबसे मुझे बहुत स्नेह और सम्मान मिला है.... आपने इतना सोचा मेरे लिए यही एक पुरस्कार है....शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  21. संगीता जी को बहुत बहुत बधाई, आपकी टिप्पणी पाना ही अपने आप में एक बेहतरीन अहसास है।

    टिप्पणी लिखना भी एक विधा है जैसे कि अपने चिठ्ठे पर चिठ्ठा लिखना। और आप उसमें माहिर हैं :)

    उत्तर देंहटाएं
  22. संगीता जी को बहुत बहुत बधाई.......नि:संदेह वे इस की हकदार हैं ...

    उत्तर देंहटाएं
  23. संगीता जी को ढेरों बधाइयाँ !!

    उत्तर देंहटाएं
  24. संगीता जी .............बंधाई स्वीकारें .

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top