अब इस परिचर्चा को लेकर चलते हैं कुछ भारतीय क्रिकेटर्स के पास और आईये उनसे पूछते हैं कि क्या है उनके लिए आज़ादी के मायने ?


इस अवसर पर मैं तो सिर्फ यही कहूंगा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने कड़े संघर्ष के बाद हमें आज़ादी दिलाई जिसकी हमें कीमत समझनी चाहिए.
()सचिन तेंदुलकर,आदर्श भारतीय क्रिकेटर





आज़ादी के बिना कुछ भी पूर्ण नहीं है. अगर किसी के पास सारे सुख और आराम हों लेकिन आज़ादी नहीं हो तो ऐसी ज़िंदगी का कोई मतलब नहीं होता. फिर भारत में तो आज़ादी संवैधानिक अधिकारों में शामिल की गई है.

हमें कहीं भी घूमने फिरने, अपनी बातों को कहने की पूरी आज़ादी हासिल है. हमने बहुत संघर्ष के बाद आज़ादी पाई है इसलिए आज़ादी दिलाने वालों को कभी नहीं भूलना चाहिए, जिन्होंने अपना सब कुछ देश को समर्पित कर हमें आज़ादी दिलाई.
()महेंद्र सिंह धोनी
कप्तान : भारतीय क्रिकेट टीम





एक नागरिक के तौर पर हमें देश में रहने, सोचने, अपनी बात कहने की आज़ादी है. हम खुली हवा में सांस ले सकते हैं. मेरे हिसाब से तो यही मायने हैं आज़ादी के.
()ज़हीर ख़ान
भारतीय क्रिकेटर





एक नागरिक के तौर पर अपनी ज़िन्दगी गुज़ारने की पूरी स्वतंत्रता है यह आजादी. सभी को बराबरी का मौक़ा ही आजादी है. हमें 1947 में बड़ी मुश्किलों के बाद यह आज़ादी मिली थी. इसलिए हमें 15 अगस्त के साथ हर दिन आज़ादी के नायकों को याद करना चाहिए.
()सौरभ गांगुली
पूर्व कप्तान : भारतीय क्रिकेट टीम


जारी है परिचर्चा मिलते हैं एक अल्प विराम के बाद ......

3 comments:

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top