श्री समीर लाल 'समीर' हिंदी चिट्ठाजगत के सर्वाधिक समर्पित,लोकप्रिय और सक्रिय हस्ताक्षर हैं . लोकप्रियता के मामले में इन्हें हिंदी चिट्ठाजगत में वही सम्मान प्राप्त है जो भारतीय संगीत में ऐ. आर. रहमान को .

साहित्य की हर विधाओं में लिखने वाले श्री समीर लाल जी का व्यंग्य जहां दिल की गहराईयों में जाकर गुदगुदाता है वहीं इनकी कविता अपनी संवेदनात्मक अभिव्यक्ति के कारण चिंतन के लिए विवश कर देती है .

नए चिट्ठाकारों के लिए प्रेरणास्त्रोत श्री समीर लाल जी की लोकप्रियता का पैमाना यह है कि हर नया चिट्ठाकार इन्हें अपनी प्रेरणा का प्रकाश पुंज महसूस करता है.

......आज यह उद्घोषित करते हुए मुझे अपार ख़ुशी हो रही है कि ब्लोगोत्सव-२०१० की टीम ने इन्हें वर्ष के श्रेष्ठ चिट्ठाकार का अलंकरण देते हुए सम्मानित करने का निर्णय लिया है .

श्री समीर लाल 'समीर' जी के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहाँ किलिक करें

17 comments:

  1. समीर लाल जी को बहुत बहुत बधाईयाँ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. समीर लाल जी को बहुत बहुत बधाईयाँ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह भई समीर जी, ये हुई न बात. बधाई मेरे भाई.

    उत्तर देंहटाएं
  4. गुरु ब्रह्मा, गुरुर विष्णु,
    गुरु देवो महेश्वारहा,
    गुरु साक्षात परा ब्रह्मा,
    तसमई श्री गुरुवाए नमा...

    Guru is verily the representative of Brahma, Vishnu and Shiva. He creates, sustains knowledge and destroys the weeds of ignorance. I salute such a Guru.

    गुरु को बधाई देने जैसी मेरी औकात नहीं...क्योंकि गुरु तो प्रकाश है, जो आलोकित करता है, इसलिए गुरु की सिर्फ वंदना ही की जा सकती है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  5. समीर भाई को ढेर सारी शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  6. समीर जी को बहुत बहुत बधाई। स्वतन्त्रता दिवस की सब को बधाई। जय हिन्द।

    उत्तर देंहटाएं
  7. वर्ष के श्रेष्ठ चिट्ठाकार के अलंकरण के योग्य हैं समीर लाल जी ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत-बहुत मुबारक हो! दिल से ढेरों शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top