हिंदी के कुछ ऐसे ब्लॉग्स जिसने बदल दिए ब्लॉगिंग के मायने परंपरागत मीडिया के द्वारा जो नहीं किया जा सका उसे किये हैं ये साकार ....चाहे साहित्य-संस्कृति की गतिविधियाँ हो या समाचार ....!

ब्लॉगिंग को बुद्धिजीवियों के बीच नये वर्तमान परिवेश में अभिव्यक्ति के एक मंच के तौर पर देखा जा रहा है। यहाँ तक कि सभी गंभीर ब्लॉग लेखक ब्लॉगिंग को वैकल्पिक मीडिया के रूप में ही देखते हैं। ऐसी मान्यता है कि बदलती परिस्थितियों के कारण बदलते समाज की मिटती खूबसूरती को मिटने से बचाने के लिए जरूरी है वैकल्पिक मीडिया। यही कारण है कि सोशल मीडिया में हिंदी के बढ़ते तेवर और संभावनाओं पर गंभीर बहस होनी शुरू हो चुकी हैपरिवर्तन की गति को तकनीक ने बेहद तेज कर दिया है और इससे भाषाई साहित्‍यिक अंतर्क्रियाएं बढ़ रही है।

ब्लॉगिंग यानी वैकल्पिक मीडिया ने आम आदमी की संवेदनाओं और भावनाओं के सुख को फिर से जागृत किया है। हालांकि वैकल्पिक मीडिया के अस्तित्व में आने से मीडिया ने अपनी ताकत नहीं खोई है बल्कि , ब्लॉग,ट्विटर, फेसबुक आदि सोशल नेटवर्किंग साइट्स के कारण पुन: संजोई है और अब नया मीडिया और आम आदमी दोनों ही ताकतवर होते जा रहे हैं। जहां तक हिंदी का प्रश्न है तो आज़ादी से पहले जिन मूल्यों की तलाश में आम आदमी ने संघर्ष किया, वही मूल्‍य आज़ादी के बाद और अधिक विघटित हो गए हैं। ऐसे में आम आदमी के पास अपनी बात को कहने के लिए विकल्प नहीं रहा था परंतु अब आम आदमी के पास तकनीक आने से उसने अपने लिए विकल्पों की स्वयं ही खोज करनी शुरू कर दी है । फलत: ब्लॉगिंग उनके लिए अभिव्यक्ति का सबसे बड़ा माध्यम बन कर उभरा है

आज हिंदी में कुछ बेहतरीन समाचार ब्लॉग पोर्टल है जो लगातार वैकल्पिक मीडिया की धार को बनाए हुए है । जहां आप प्रतिदिन दिनचर्या से जुड़े सवालों का हल ढूंढ सकते हैं वहीँ प्राप्त कर सकते हैं आम जन की पीड़ा और उनकी अनुभूतिपरक दर्द को

यदि हिंदी के कुछ दैनिक समाचार पत्रों के ई संस्करण को छोड़ दिया जाए तथा एग्रीगेटर के माध्यम से संचालित समाचार से संवंधित वेबपेज और बी. बी. सी.(हिंदी) जैसे विदेशी नेयुज पोर्टल को छोड़ दिया जाए तो हिंदी में कुछ वेहतरीन समाचार ब्लॉग पोर्टल है जो हिंदी के माध्यम से नए और खुशहाल सह अस्तित्व की परिकल्पना को मूर्त रूप देने की दिशा में प्रतिबद्धता के साथ खड़े दिखाई देते हैं । वैसे तो हिंदी में 500 से ज्यादा समाचार पोर्टल है, किन्तु उनमें से 25 प्रतिनिधि पोर्टल का चुनाव मैंने किया है जो वर्ष-2011 में सर्वाधिक सक्रिय रहे
हिंदी के 25 भारतीय ब्लॉग समाचार पोर्टल (वर्ष 2011)

क्र. सं. भारतीय ब्लॉग समाचार पोर्टल का नाम
औसत वैश्विक रैंक
औसत भारतीय रैंक
1
                        वेब दुनिया
3569267

2रविवार 4921
6762

3जागरण 8967 373
4समाचार
18706
1818

513560
13730

6खासखबर
21215
1328

7पत्रिका
24611
1396

8.भड़ास4मीडिया
38938
2745

9देश बंधू
40001
2862

10प्रवक्ता
72494
8065

11नई दुनिया
74701
8505

12राजस्थान पत्रिका
88294
8787

13ई खबर
125366
9722

14इण्डिया वाटर पोर्टल
130850
17584

15मीडिया खबर
164,474
22,107

16मोहल्ला लाईव
234,638
31,146
17स्वतंत्र आवाज़ 278441
25605

18समाचार4मीडिया
298642
          26085

19अर्थकाम
323284 31326
20प्रभा साक्षी
400825
47748

21विचार मीमांशा
531727
          60884

22हस्तक्षेप
567721
99,243

23मीडिया मंच
966088
         78138

24पुण्य प्रसून बाजपेयी
         970860
         113,449
25आर्यावर्त
        12 ,95,340
          97,752

हिंदी की 25 साहित्यिक वेब पत्रिकाएं (वर्ष 2011)
क्र. सं. हिंदी की साहित्यिक वेब पत्रिकाएं
औसत वैश्विक रैंक
औसत भारतीय रैंक
1
               भारत दर्शन
31570532153
2सृजनगाथा
326367
34165

3अभिव्यक्ति
370373
40377

4अनुभूति
460165
48423

5भारतीय पक्ष 496535 41610

6हिंद युग्म
515592
50453

7हिंदी गौरव 548865
146068

8.हिंदी नेस्ट
788735
102844

9हिंदी कुंज
869353
97301

10हमराही 966294
99831

11रचनाकार
1010423
107197

12नव्या
1236194
71593

13वटवृक्ष
1541529
147275

14अपनी माटी
1819966
-------
15कल्किआन (हिंदी)
1878702
---------

16परिकल्पना ब्लॉगोत्सव
2481263
174507
17साहित्य शिल्पी 2993490
295560

18लेखनी 3179768
         202022

19सुबीर संवाद सेवा
5304107 224932

20कृत्या
5613254
----------

21पाखी
5691713
          ---------

22ताप्ति लोक
6471969
-----------

23रंगवार्ता
6514729
          ---------

24कलायन
        6822613
-----------

25अन्यथा
6908499
----------

  • उल्लेखनीय है कि उपरोक्त सूची में औसत वैश्विक और भारतीय रैंक अलेक्सा डोट कॉम से प्राप्त सूचना के आधार पर दिया गया है  
........विश्लेषण अभी जारी है,फिर मिलते हैं लेकर वर्ष-२०११ की कुछ और झलकियाँ

32 comments:

  1. समुचित जानकारी से परिपूर्ण सार्थक पोस्ट ! आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  2. सार्थकता लिए ... उत्‍कृष्‍ट प्रयास सराहनीय है ...आभार

    उत्तर देंहटाएं
  3. उम्दा जानकारी से भरा विश्लेषण ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. अद्भुत, अनुपम और अतुलनीय.....सचमुच ब्लॉग विश्लेषण में आपको महारत हासिल है सर, आपको नमन !

    उत्तर देंहटाएं
  5. हिंदी ब्लॉगिंग का यह पक्ष अत्यंत महत्वपूर्ण है, निश्चय ही ये सभी ब्लॉग पोर्टल हिंदी ब्लॉगिंग को नयी दिशा देने का महत्वर्ण कार्य कर रहे हैं ....अबतक हम केवल अपने निहायत निजी और समूह ब्लॉग के ईर्द-गिर्द ही चक्कर काट रहे थे , इस पक्ष को आपने उजागर कर वैकल्पिक मीडिया को आयामित किया है, आपका आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  6. सचमुच आपका यह विश्लेषण सार्थक है !

    उत्तर देंहटाएं
  7. आदरणीय रविन्द्र जी !
    सार्थक समीक्षा और प्रस्तुति के लिए आभार !

    आपका
    कनिष्क कश्यप

    उत्तर देंहटाएं
  8. आपका यह परिश्रम 'हिन्‍दी ब्‍लॉग' के इतिहास का अपरिहार्य पन्‍ना बना रहेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपका परिश्रम प्रशंसनीय है। एक बड़ा दस्तावेज तैयार हो रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपका परिश्रम प्रशंसनीय है। एक बड़ा दस्तावेज तैयार हो रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  11. उपयुक्त जानकारी!...बढ़िया प्रस्तुति!

    उत्तर देंहटाएं
  12. अच्‍छा संग्रह ..
    सुंदर जानकारी !!

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top