5 comments:

  1. प्रभात जी की गज़लों का क्या कहना, एक-एक शब्द संदेशपरक.... मन खुश हो गया पढ़कर ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. कोशिशें ऐसी करें ....
    बहुत सही कहा है आपने इन पंक्तियों में ...
    बहुत ही उत्‍कृष्‍ट प्रस्‍तुति ..
    सादर

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top