खनऊ से प्रकाशित "परिकल्पना समय" (हिन्दी मासिक पत्रिका) और "परिकल्पना" (सामाजिक संस्था) के संयुक्त तत्वावधान में प्रकृति की अनुपम छटा से ओतप्रोत दक्षिण एशिया का एक महत्वपूर्ण देश भूटान  की राजधानी और सांस्कृतिक राजधानी क्रमश: थिम्पू और पारो  में दिनांक 15  से 18  जनवरी 2015 तक चार दिवसीय "चतुर्थ अंतरराष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलन सह परिकल्पना सम्मान समारोह" का आयोजन किया जा रहा है।
इस अवसर पर आयोजित सम्मान समारोह, आलेख वाचन,चर्चा -परिचर्चा में देश विदेश के अनेक साहित्यकार,चिट्ठाकार,पत्रकार,अध्यापक,संस्कृतिकर्मी,हिंदी प्रचारकों और समीक्षकों की उपस्थिति रहेगी। उल्लेखनीय है, कि  ब्लॉग, साहित्य, संस्कृति और भाषा के लिए प्रतिबद्ध संस्था "परिकल्पना" पिछले चार वर्षों से ऐसी युवा विभूतियों को सम्मानित कर रही है जो ब्लॉग लेखन को बढ़ावा देने के साथ-साथ कला, साहित्य और संस्कृति के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान दे रहे हैं। इसके अलावा वह तीन अंतरराष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलनों का संयोजन भी कर चुकी है जिसका पिछला आयोजन नेपाल की राजधानी काठमाण्डू में किया गया था ।

सम्मेलन का मूल उद्देश्य स्वंयसेवी आधार पर दक्षिण एशिया में ब्लॉग के विकास हेतु पृष्ठभूमि तैयार करना, हिंदी-संस्कृति का प्रचार-प्रसार करना, भाषायी सौहार्द्रता एवं सांस्कृतिक अध्ययन-पर्यटन का अवसर उपलब्ध कराना आदि है।

इस अवसर पर आयोजित संगोष्ठी का विषय है –"ब्लॉग के माध्यम से दक्षिण एशिया में शांति-सद्भावना की तलाश"। इसके अलावा सुर-सरस्वती और संस्कृति की त्रिवेणी प्रवाहित करती काव्य संध्या भी आयोजित होगी। समस्त प्रतिभागियों को- थिम्पू के उत्तरी किनारे पर स्थित एक महत्वपूर्ण बौद्ध मठ सह गढ़- तशीछों दजोंग के साथ-साथ थिम्फू स्थित फ़ौक हेरिटेज मियूजियम, नेशनल टेकस्टाईल मियूजियम, नेशनल मेमोरियल चोरटेन। दोचूला स्थित कुएंसेल फोड्रंग, मोतीहंग ताकिन प्रिसर्व, चंगङ्घा ल्हाखंग, विकेंड मार्केट तथा पारो स्थित टकटसँग मोनेस्ट्री, रिमपंग द्ज़ोंग, क्यीचू ल्हाखंग आदि स्थलों के अवलोकन का अवसर भी प्राप्त होगा। इस अवसर पर भारतीय संस्कृति को आयामीट करने वाली चित्र प्रदर्शनी भी आम लोगों के लिए उपलब्ध रहेगी। इस यात्रा की सबसे बड़ी विशेषता रहेगी भूटानी व्यंजन के साथ-साथ भारतीय व्यंजन का  भरपूर लुत्फ़।

इस आयोजन को भूटान में आयोजित करने के मूल उद्देश्य यह है कि सांस्कृतिक दृष्टि से भारत और भूटान में कई समानताएं हैं । भारत से निकल कर बौद्ध धर्म जहां भूटानी  संस्कृति में विलीन हो गया वहीं भारतीय नृत्य शैलियों का यहाँ व्यापक प्रसार हुआ । बौद्ध यहां का मुख्य धर्म है। गेरुए वस्त्र पहने बौद्ध भिक्षु और सोने, संगमरमर व पत्थर से बने बुद्ध यहां आमतौर पर देखे जा सकते हैं। यहां मंदिर में जाने से पहले अपने कपड़ों का विशेष ध्यान रखा जाता है । इन जगहों पर छोटे कपड़े पहन कर आना मना है। भूटान  के शास्त्रीय संगीत चीनी, जापानी, भारतीय ओर इंडोनेशिया के संगीत के बहुत समीप जान पड़ता है। यहां अनेकानेक  नृत्य शैलियां हैं जो नाटक से जुड़ी हुई हैं। इनमें रामायण का महत्वपूर्ण स्थान है। इन कार्यक्रमों में भारी परिधानों और मुखोटों का प्रयोग किया जाता है। यहाँ अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉग सम्मलेन आयोजित करने के पीछे पवित्र उद्देश्य  है  हिंदी संस्कृति को भूटानी संस्कृति के करीब लाना और हिंदी भाषा को यहाँ के वैश्विक वातावरण में प्रतिष्ठापित करना ।

ध्यान दें: इसमें शामिल होने के लिए पासपोर्ट की अनिवार्यता नही है। 

जो प्रतिभागी इस आयोजन में शामिल होने के इच्छुक हो वे 
अन्य जानकारी के लिए लिखें: parikalpnaa00@gmail.com

37 comments:

  1. वाह! बहुत बढ़िया। शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सकारात्मक प्रयास !
    बहुत बहुत बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  3. मैं तैयार हूं। पूरा विवरण मय समस्त किए जाने व्यय बतलाएं।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. एक के साथ एक फ्री होगा तो क्या आप मुझे भी ले जायेंगे ?

      हटाएं
    2. इस आयोजन में शामिल होने के इच्छुक हो तो
      लिखें: parikalpnaa00@gmail.com:

      हटाएं
  4. वाह! बहुत बढ़िया। शुभकामनाएं। मैं तैयार हूं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह-वाह, धन्य हो प्रभात भाई, मतलब हम तैयार रहे. विषय भी बहुत अच्छा है देश भी प्यारा है

    उत्तर देंहटाएं
  6. उत्तर
    1. इस आयोजन में शामिल होने के इच्छुक हो तो
      लिखें: parikalpnaa00@gmail.com:

      हटाएं
  7. बहुत-बहुत शुभकामनाएँ रवीन्द्र जी

    उत्तर देंहटाएं
  8. भव्य सफल आयोजन हेतु हार्दिक बधाईयाँ.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप भी चलें, व्यक्तिगत रूप से मुझे बहुत खुशी होगी।

      हटाएं
  9. वाह! बहुत बढ़िया। शुभकामनाएं। मैं तैयार हूं।। पूरा विवरण मय समस्त किए जाने व्यय बतलाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  10. इस आयोजन में शामिल होने के इच्छुक हो तो
    लिखें: parikalpnaa00@gmail.com:

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत ही बढ़िया ...समस्त शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत बढ़िया पहल ..
    आयोजन की अग्रिम हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  13. हार्दिक शुभकामनायें... शायद मैं भी शामिल हो सकूँ.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप भी चलें, व्यक्तिगत रूप से मुझे बहुत खुशी होगी।लिखें: parikalpnaa00@gmail.com

      हटाएं
  14. प्रभात जी
    अभिवादन
    कुल मिला कर बधाई और शुभकामना.
    विस्तार से मार्ग व्यय आदि का ब्यौरा दीजिये

    उत्तर देंहटाएं
  15. विस्तार से मार्ग व्यय आदि का ब्यौरा दीजिये

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इस आयोजन में शामिल होने के इच्छुक हो तो
      लिखें: parikalpnaa00@gmail.com:

      हटाएं
  16. बहुत बढ़िया .
    आयोजन की अग्रिम हार्दिक शुभकामनायें.
    Dr.NL Bharati
    Indore(MP)

    उत्तर देंहटाएं
  17. अरे वाह!!!!! कामयाबी के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top