जैसा कि आप सभी को विदित है कि पूर्व में ऐसी घोषणा की गयी थी कि परिकल्पना से जुड़े समस्त चिट्ठाकारों के लिए हम शीघ्र ही एक ऐसा पन्ना लेकर आ रहे हैं , जिसका नाम होगा : ब्लॉग परिक्रमा । इसके अंतर्गत हम प्रत्येक सप्ताह एक प्रेरक ब्लॉग की परिक्रमा करेंगे अर्थात उसका समग्र विश्लेषण करेंगे और बताएँगे कि क्यों पढ़ा जाए यह ब्लॉग ?

इसी क्रम में आप सभी को यह अवगत कराना है कि वायदे के अनुसार परिकल्पना की ब्लॉग परिक्रमा की शुरुआत दिनांक २१.१०.२०१० से हीं हो चुकी है , किन्तु आज से हम एक उद्देश्यपूर्ण शुरुआत कर रहे हैं , पहले चरण में हिंदी ब्लोगिंग की शुरुआत से अबतक की संक्षिप्त जानकारी प्रस्तुत की जा रही है । इसके बाद हम अलग-अलग ब्लॉग की श्रृंखलाबद्ध परिक्रमा करेंगे ।


तो देर किस बात कि शामिल होईये हमारे साथ उस ब्लॉग की परिक्रमा में जो प्रेरक है हिंदी ब्लॉग जगत के लिए .....यहाँ किलिक करें

4 comments:

  1. इस ब्लॉग परिक्रमा का बेसब्री से इंतजार तहेगा ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. रवींद्र प्रभात जी क्या आप बता सकते है् कि पाँच साल की लगातार ब्लॉगिंग कर ढाई लाख से ज्यादा पेजलोड्स, पौने छः सौ (574) ई मेल स्ब्सक्राइबर के होते हुए भी आपने मेरे ब्लॉग एक शाम मेरे नाम का उल्लेख क्यूँ नहीं किया? मेरे ख्याल से ऐसे ही आपने अन्य ब्लागों को छोड़ा होगा।

    पिछले कुछ सालों से हिंदी ब्लॉग जगत में सिर्फ स्वयंभू विश्लेषक और अब इतिहासकार:) का भार आपने सँभाला है। इसके लिए मेहनत तो खूब करते हैं आप पर पंच के आसन पर पहुंचने के लिए जिस निष्पक्षता की जरूरत है वो आपमें कहीं नज़र नहीं आती। आपको आपकी परिक्रमा मुबारक.. एक दूसरे की पीठ थपथपाने की जिस क़वायद में आप हैं उसमें लगे रहें।

    हिंदी ब्लॉग जगत आपके इन कृत्यों के लिए आपको हमेशा याद रखेगा!

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top