3 comments:

  1. वाह जी बल्‍ले बल्‍ले. आपका आयोजन खूब सफल हो. लेखन/प्रकाशन की दुनि‍या को भी पता तो चले कि‍ कि‍न बंद कि‍लों में रह रहे हैं वे अभी भी /:-)

    लेकि‍न जहां तक बात आपके ''सवाल आप ब्‍लॉगिंग क्‍यों करते हैं? '' की है ... तो भई मैं तो यूं ही करता हूँ, बस्‍स. कोई प्रयोजन नहीं /:-)

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top