(कृपया अब दूसरी कोई भी पोस्ट 25 दिसम्बर तक ना डाली जाये )

 मुश्किलें ना हों तो रास्ते नहीं ... तो मुश्किलों से कभी ना घबराएँ ना डगमगाएं 
जब सारे रास्ते बंद नज़र आते हैं 
तो कोई फ़रिश्ता नए द्वार पर स्वागत की मुद्रा में होता है 
................
हमें भी मिला वह फ़रिश्ता 
बोला हंसकर -
मैं तो हर हाल में साथ रहता हूँ 
..............
'वटवृक्ष' - परिकल्पना का आयोजन 
गुल्लक खाली हो गया 
तब यह फ़रिश्ता विकल्प की रौशनी दे गया 
-
तो बंधू विकल्प यह है 
कि = हम परिकल्पना उत्सव 1 दिसम्बर से आरम्भ करेंगे 
25 तक हम हर रंग प्रस्तुत करेंगे 
यकीनन सात रंगों के अलावा भी :)
सात रंग तो प्रभु ने दिए हैं 
8,9.............. अनगिनत रंग हमसब बनेंगे 
क्योंकि लड़कर भी हम साथ साथ हैं ...........

इसी उत्सव में बिखरे रंगों को हम बारी बारी 
2 या 3 अंकों में वटवृक्ष की शान बनायेंगे 
..........
आप चाहें ना चाहें 
हम अपने रंग में आपको रंग जायेंगे 
कलयुग को सतयुग बना जायेंगे :)

19 comments:

  1. परिकल्‍पना उत्‍सव ... के लिए अनंत शुभकामनाएं

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. शुभकामनाएं ।

    आपकी इस उत्कृष्ट पोस्ट की चर्चा बुधवार (28-11-12) के चर्चा मंच पर भी है | जरूर पधारें |
    सूचनार्थ |

    उत्तर देंहटाएं
  3. हार्दिक बधाइयां और शुभ कामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  4. मुश्किलें ना हों तो रास्ते नहीं ... तो मुश्किलों से कभी ना घबराएँ ना डगमगाएं .......

    जब सारे रास्ते बंद नज़र आते हैं .........
    तो कोई फ़रिश्ता नए द्वार पर स्वागत की मुद्रा में होता है ......... जैसे आप !!
    हार्दिक बधाई और बहुत-बहुत शुभकामनायें !!

    उत्तर देंहटाएं
  5. मुश्किलें ना हों तो रास्ते नहीं ... तो मुश्किलों से कभी ना घबराएँ ना डगमगाएं .......

    जब सारे रास्ते बंद नज़र आते हैं .........
    तो कोई फ़रिश्ता नए द्वार पर स्वागत की मुद्रा में होता है ......... जैसे आप !!
    हार्दिक बधाई और बहुत-बहुत शुभकामनायें !!

    उत्तर देंहटाएं
  6. काफी समय से ब्लोगिंग से दूर हूँ और दिसंबर में ही मेरी भी वापसी सम्भव है |
    और लीजिए आपके इस परिकल्पना उत्सव के बारे में पता चला , अब तो मुझे दिसंबर का बहुत बेसब्री से इन्तेजार है , काफी कुछ नया अनोखा मिलने वाला है |
    मेरी शुभकामनाएं -
    'सूरज से छनकर आती , नयी ओज का स्वागत है,
    एक नयी सोच का स्वागत है |'

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  7. शुभकामनाएं दीदी.. अच्छा है.. श्रेष्ठ रचनाकारों की चुनिन्दा रचनाएं पढ़ने को मिलेंगी..!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. परिकल्‍पना उत्‍सव के लिए हार्दिक शुभकामनाएं,,,

    उत्तर देंहटाएं
  9. हार्दिक शुभकामनाएँ !
    ~सादर !!!

    उत्तर देंहटाएं
  10. परिकल्‍पना उत्‍सव के लिए हार्दिक शुभकामनाएं,,,

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top