परिकल्पना ब्लॉगोत्सव  और मैं

 एक व्यक्ति ने चाहा कि अंतर्जाल पर हिन्दी के माध्यम से नए समाज की परिकल्पना को मूर्तरूप दिया जाये ....प्रयास किया ब्लॉग विश्लेषण से, फिर अचानक उसके जेहन मे आकार लेने लगी एक मौलिक परिकल्पना यानि -

ब्लॉगोत्सव 


परिकल्पना के संचालक-समन्वयक और हिंदी के मुख्य ब्लॉग विश्लेषक लखनऊ निवासी रवीन्द्र प्रभात ने अपने छ: सहयोगियों क्रमश: अविनाश वाचस्‍पति, रश्मि प्रभाज़ाक़िर अली रजनीश, रणधीर सिंह सुमन,विनय प्रजापति और ललित शर्मा के साथ मिलकर वर्ष-2010 में अंतरजाल पर ब्लॉगोंत्सव मनाने का फैसला किया और इस उत्सव को नाम दिया “परिकल्पना ब्लॉग उत्सव″ इस उत्सव का नारा था – ” अनेक ब्लॉग नेक हृदय” इस उत्सव में अनेकानेक कालजयी रचनाएँ , विगत दो वर्षों में प्रकाशित कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉग पोस्ट , ब्लॉग लेखन से जुड़े अनुभवों पर वरिष्ठ चिट्ठाकारों की टिप्पणियाँ ,साक्षात्कार , मंतव्य आदि का भव्यता के साथ प्रकाशन हुआ ।
यह उत्सव 15अप्रैल-2010 से 15 जून-2010 तक अर्थात दो महीने तक परिकल्पना की साइट पर निर्वाध रूप से चला और हिंदी ब्लॉगजगत में एक नए इतिहास के सृजन का साक्षी बना । ब्लॉग पर इस उत्सव को प्रायोजित किया बाराबंकी से प्रकाशित लोकसंघर्ष पत्रिका ने और इसमें उद्घोषित 51 ब्लॉगर्स को दिनांक 30 अप्रैल-2011 को हिंदी भवन दिल्ली में सारस्वत सम्मान देने का निर्णय लिया देश के एक बड़े प्रकाशन संस्थान हिन्दी साहित्य निकेतन बिजनौर ने ।इसी प्रकार वर्ष 2011 में यह उत्सव (द्वितीय संस्कारण ) अंतर्जाल पर 23 जून 2011 से 23 सितंबर 2011 तक निर्वाध रूप से परिकल्पना पर जारी रहा । इसका समापन विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देनेवाले वरिष्ठ तथा नए प्रतिभाशाली 51 चिट्ठाकारों के सारस्वत सम्मान से हुआ । उत्सव के दौरान सारगर्भित टिपण्णी देने वाले श्रेष्ठ टिप्पणीकार को भी इस अवसर पर सम्मानित किया गया । ब्लॉग पर इस उत्सव के द्वितीय संस्कारण को भी प्रायोजित किया बाराबंकी से प्रकाशित लोकसंघर्ष पत्रिका ने और इसमें उद्घोषित 51 ब्लॉगर्स को दिनांक 27 अगस्त-2012 को राय उमनाथ वली प्रेक्षागृह, लखनऊ में सारस्वत सम्मान देने का निर्णय लिया सामाजिक सांस्कृतिक संस्था तस्लीम ने ।


वहुमुखी प्रतिभा के धनी 

“रवीन्‍द्र प्रभात ब्‍लॉग जगत में सिर्फ एक कुशल रचनाकार के ही रूप में नहीं जाने जाते हैं, उन्‍होंने ब्‍लॉगिंग के क्षेत्र में कुछ विशिष्‍ट कार्य भी किये हैं। वर्ष 2007 में उन्‍होंने ब्‍लॉगिंग में एक नया प्रयोग प्रारम्‍भ किया और ‘ब्‍लॉग विश्‍लेषण’ के द्वारा ब्‍लॉग जगत में बिखरे अनमोल मोतियों से पाठकों को परिचित करने का बीड़ा उठाया। 2007 में पद्यात्‍मक रूप में प्रारम्‍भ हुई यह कड़ी 2008 में गद्यात्‍मक हो चली और 11 खण्‍डों के रूप में सामने आई। वर्ष 2009 में उन्‍होंने इस विश्‍लेषण को और ज्‍यादा व्‍यापक रूप प्रदान किया और विभिन्‍न प्रकार के वर्गीकरणों के द्वारा 25 खण्‍डों में एक वर्ष के दौरान लिखे जाने वाले प्रमुख ब्‍लागों का लेखा-जोखा प्रस्‍तुत किया। इसी प्रकार वर्ष 2010 में भी यह अनुष्‍ठान उन्‍होंने पूरी निष्‍ठा के साथ सम्‍पन्‍न किया और 21 कडियों में ब्‍लॉग जगत की वार्षिक रिपोर्ट को प्रस्‍तुत करके एक तरह से ब्‍लॉग इतिहास लेखन का सूत्रपात किया। 

ब्‍लॉग जगत की सकारात्‍मक प्रवृत्तियों को रेखांकित करने के उद्देश्‍य से अभी तक जितने भी प्रयास किये गये हैं, उनमें ‘ब्‍लॉगोत्‍सव’ एक अहम प्रयोग है। अपनी मौलिक सोच के द्वारा रवीन्‍द्र प्रभात ने इस आयोजन के माध्‍यम से पहली बार ब्‍लॉग जगत के लगभग सभी प्रमुख रचनाकारों को एक मंच पर प्रस्‍तुत किया और गैर ब्‍लॉगर रचनाकारों को भी इससे जोड़कर समाज में एक सकारात्‍मक संदेश का प्रसार किया।”

  • जन सन्देश टाइम्स ( हिंदी दैनिक), (01 मार्च 2011)


उस व्यक्ति ने सोचा 


क्यों न रचनात्मकता से जुड़े हुये सभी ब्लॉगर को एक वृहद मंच दिया जाये और हर क्षेत्र मे उल्लेखनीय कार्य करने वालों को प्रोत्साहन दिया जाये । बस क्या था उसने एक ऐसे बृहद सम्मान की उद्घोषणा कर दी, नाम दिया परिकल्पना सम्मान , जिसे बाद मे हिन्दी ब्लोगिंग का ऑस्कर कहा गया । 

कब-कब किसे मिला यह सम्मान 


परिकल्पना सम्मान-2010

1. वर्ष का श्रेष्ठ नन्हा ब्लॉगर – अक्षिता पाखी,(पाखी की दुनिया) पोर्टब्लेयर (वर्तमान में इलाहाबाद)
2. वर्ष के श्रेष्ठ कार्टूनिस्ट – श्री काजल कुमार, दिल्ली (काजल कुमार के कार्टून)
3. वर्ष की श्रेष्ठ कथा लेखिका – श्रीमती निर्मला कपिला, नांगल (पंजाब)(वीर बहूटी)
4. वर्ष के श्रेष्ठ विज्ञान कथा लेखक – डॉ. अरविन्द मिश्र, वाराणसी (साई ब्लॉग)
5. वर्ष की श्रेष्ठ संस्मरण लेखिका – श्रीमती सरस्वती प्रसाद, पुणे (मैं और मेरी सोच)
6. वर्ष के श्रेष्ठ लेखक – श्री रवि रतलामी, भोपाल (छींटे और बौछारें)
7. वर्ष की श्रेष्ठ लेखिका (यात्रा वृतान्त) – श्रीमती शिखा वार्ष्णेय, लंदन (स्पंदन)
8. वर्ष के श्रेष्ठ लेखक (यात्रा वृतान्त) – श्री मनोज कुमार, कोलकाता (मनोज)
9. वर्ष के श्रेष्ठ चित्रकार – श्रीमती अल्पना देशपांडे, रायपुर (अल्पना की आर्ट गैलरी)
10. वर्ष के श्रेष्ठ हिन्दी प्रचारक – श्री शास्त्री जे.सी. फिलिप, कोच्ची, केरल (सारथी)
11. वर्ष की श्रेष्ठ कवयित्री – श्रीमती रश्मि प्रभा, पुणे (मेरी भावनाएं)
12. वर्ष के श्रेष्ठ कवि – श्री दिविक रमेश, दिल्ली (divik ramesh)
13. वर्ष की श्रेष्ठ सह लेखिका – सुश्री शमा कश्यप, पुणे (संस्मरण)
14. वर्ष के श्रेष्ठ व्यंग्यकार – श्री अविनाश वाचस्‍पति, दिल्ली (नुक्कड़)
15. वर्ष की श्रेष्ठ युवा गायिका – सुश्री मालविका नीराजन, बैंगलोर (एक नया दिन चला ढूँढने.....)
16. वर्ष के श्रेष्ठ क्षेत्रीय लेखक – श्री संजीव तिवारी, दुर्ग (म. प्र. )(आरंभ)
17. वर्ष के श्रेष्ठ क्षेत्रीय कवि – श्री एम. वर्मा, वाराणसी(जज़्बात)
18. वर्ष के श्रेष्ठ गजलकार – श्री दिगम्बर नासवा, दुबई (स्वप्न मेरे)
19. वर्ष के श्रेष्ठ कवि (वाचन) – श्री अनुराग शर्मा, पिट्सबर्ग अमेरिका (पीट्सवर्ग में एक भारतीय)
20. वर्ष की श्रेष्ठ परिचर्चा लेखिका – श्रीमती प्रीति मेहता, सूरत (अंतरंग)
21. वर्ष के श्रेष्ठ परिचर्चा लेखक – श्री दीपक मशाल, लंदन (मसि कागद)
22. वर्ष की श्रेष्ठ महिला टिप्पणीकार – श्रीमती संगीता स्वरूप, दिल्ली (गीत...मेरी अनुभूतियाँ)
23. वर्ष के श्रेष्ठ टिप्पणीकार – श्री हिमांशु पाण्डेय, सकलडीहा (यू.पी.)(हिमांशु पाण्डेय की डायरी)
24-25-26. वर्ष की श्रेष्ठ उदीयमान गायिका – खुशबू/अपराजिता/इशिता, पटना (संयुक्त रूप से)
27. वर्ष के श्रेष्ठ बाल साहित्यकार – श्री ज़ाक़िर अली रजनीश, लखनऊ
28. वर्ष के श्रेष्ठ गीतकार (आंचलिक) – श्री ललित शर्मा, रायपुर (ललित डॉट कॉम)
29. वर्ष के श्रेष्ठ गीतकार (गायन) – श्री राजेन्द्र स्वर्णकार, बीकानेर, राजस्थान (शस्वरं)
30-31. वर्ष के श्रेष्ठ उत्सवी गीतकार – डॉ. रूपचंद्र शास्त्री ‘मयंक’, खटीमा एवं आचार्य संजीव वर्मा सलिल,(गीत सलिला) भोपाल (संयुक्त रूप से)
32. वर्ष की श्रेष्ठ देशभक्ति पोस्ट – कारगिल के शहीदों के प्रति ( श्री पवन चंदन)(चौखट)
33. वर्ष की श्रेष्ठ व्यंग्य पोस्ट – झोलाछाप डॉक्टर (श्री राजीव तनेजा)(हँसते रहो)
34. वर्ष के श्रेष्ठ युवा कवि – श्री ओम आर्य, सीतामढ़ी बिहार(मौन के खाली घर मे)
35. वर्ष के श्रेष्ठ विचारक – श्री जी.के. अवधिया, रायपुर(धान के देश मे)
36. वर्ष के श्रेष्ठ ब्लॉग विचारक – श्री गिरीश पंकज, रायपुर (गिरीश पंकज)
37. वर्ष की श्रेष्ठ महिला चिन्तक – श्रीमती नीलम प्रभा, पटना
38. वर्ष के श्रेष्ठ सहयोगी – श्री रणधीर सिंह सुमन, बाराबंकी (लोकसंघर्ष)
39. वर्ष के श्रेष्ठ सकारात्मक ब्लॉगर (पुरूष) – डॉ. सुभाष राय, लखनऊ (उ0प्र0)(बात बेवात)
40. वर्ष की श्रेष्ठ सकारात्मक ब्लॉगर (महिला) – श्रीमती संगीता पुरी, धनबाद(गत्यात्मक ज्योतिष)
41. वर्ष के श्रेष्ठ तकनीकी ब्लॉगर – श्री विनय प्रजापति, लखनऊ (उ0प्र0) संचालक:तकनीक दृष्टा खोलें
42. वर्ष के चर्चित उदीयमान ब्लॉगर – श्री खुशदीप सहगल, दिल्ली(देशनामा)
43. वर्ष के श्रेष्ठ नवोदित ब्लॉगर – श्री राम त्यागी, शिकागो अमेरिका (मेरी आवाज़)
44. वर्ष के श्रेष्ठ युवा पत्रकार – श्री मुकेश चन्द्र, दिल्ली
45. वर्ष के श्रेष्ठ आदर्श ब्लॉगर – श्री ज्ञानदत्त पांडेय, इलाहाबाद (मानसिक हलचल)
46. वर्ष के श्रेष्ठ ब्लॉग शुभचिंतक – श्री सुमन सिन्हा, पटना (मैं हूँ )
47. वर्ष की श्रेष्ठ महिला ब्लॉगर – श्रीमती स्वप्न मंजूषा ‘अदा’, अटोरियो कनाडा (काव्य मंजूषा)
48. वर्ष के श्रेष्ठ ब्लॉगर – श्री समीर लाल ‘समीर’, टोरंटो कनाडा (उड़न तश्तरी ....)
49. वर्ष की श्रेष्ठ विज्ञान पोस्ट – भविष्य का यथार्थ (लेखक – जिशान हैदर जैदी)
50. वर्ष की श्रेष्ठ प्रस्तुति – कैप्टन मृगांक नंदन एण्ड टीम, पुणे
51. वर्ष के श्रेष्ठ लेखक (हिन्दी चिट्ठाकारी विषयक पोस्ट) – श्री प्रमोद ताम्बट (व्यंग्य लोक), भोपाल

परिकल्पना सम्मान-2011

वर्ष के श्रेष्ठ कवि का सम्मान : अविनाश चंद्र (ब्लॉग : मेरी कलम से),
वर्ष के श्रेष्ठ युवा कवि का सम्मान : मुकेश कुमार सिन्हा (ब्लॉग : जिंदगी की राहें),
वर्ष की श्रेष्ठ कवयित्री का सम्मान : बाबूशा कोहली (ब्लॉगः बरिस्ता और कुछ पन्ने),
वर्ष की श्रेष्ठ युवा कवयित्री का सम्मान : अपराजिता कल्याणी (ब्लॉग : Thoughts.......)
वर्ष के श्रेष्ठ लेखक (कथाकहानी) का सम्मान : चंडी दत्त शुक्ल (ब्लॉग : चौराहा ),
वर्ष के श्रेष्ठ लेखक (संस्मरण) का सम्मान : दिनेश कुमार माली(ब्लॉगः सरोजनी साहू की श्रेष्ठ कहानियाँ),
वर्ष की श्रेष्ठ लेखिका (संस्मरण) का सम्मान : शिखा वार्ष्नेय (ब्लॉगः स्पंदन),
वर्ष के श्रेष्ठ लेखक (यात्रा वृतांत) का सम्मान : नीरज जाट(ब्लॉगः मुसाफिर हूँ यारों),
वर्ष की श्रेष्ठ लेखिका (यात्रा वृतांत) का सम्मान : राजेश कुमारी (ब्लॉगः भारतीय नारी), 
वर्ष की श्रेष्ठ लेखिका (चर्चापरिचर्चा) का सम्मान : सुधा भार्गव (ब्लॉगः तुलिका सदन),
वर्ष की श्रेष्ठ लेखिका (सकारात्मक पोस्ट) का सम्मान : पल्लवी सक्सेना (ब्लॉगः मेरे अनुभव),
वर्ष के तकनीकी ब्लॉगर का सम्मान :शैलेश भारतवासी ब्लॉगः हिन्द युग्म,
वर्ष के युवा तकनीकी ब्लॉगर का सम्मानः नवीन प्रकाश (ब्लॉगः हिंदी टू टेक),
वर्ष के नवोदित ब्लॉगर का सम्मान : रवीद्र पुंज (ब्लॉगः यमुना नगर हलचल),
वर्ष के उदीयमान ब्लॉगर का सम्मान : संतोष त्रिवेदी(ब्लॉगः बैसवारी),
वर्ष के यशस्वी ब्लॉगर का सम्मानः जय प्रकाश तिवारी(ब्लॉगः प्रज्ञानविज्ञान),
वर्ष के आदश ब्लॉगर का सम्मान : सलिल वर्मा (ब्लॉगः चला बिहारी ब्लॉगर बनने),
वर्ष के श्रेष्ठ ग़ज़लकार का सम्मान : इस्मत जैदी (ब्लॉगःशेफा कजगाँवी),
वर्ष के श्रेष्ठ गीतकार का सम्मान : डॉ रूप चंद शास्त्री 'मयंक’ (ब्लॉगः उच्चारण),
वर्ष के श्रेष्ठ ब्लॉग खबरी का सम्मान : अजय कुमार झा (ब्लॉगः झा जी कहिन ),
वर्ष के श्रेष्ठ ब्लॉग समीक्षक का सम्मान : अरविंद श्रीवास्तव(ब्लॉगः जनशब्द),
वर्ष के श्रेष्ठ ब्लॉग विचारक का सम्मान : राहुल सिंह(ब्लॉग : सिंहावलोकन),
वर्ष के श्रेष्ठ व्यंग्यकार का सम्मान : प्रेम जनमेजय(ब्लॉग : प्रेम जनमेजय),
वर्ष के श्रेष्ठ युवा व्यंग्यकार का सम्मान : सुमित प्रताप सिंह (ब्लॉग : सुमित प्रताप सिंह ),
वर्ष के श्रेष्ठ बाल रचनाओं के लेखक का सम्मान : कैलाश शर्मा (ब्लॉग : बच्चों का कोना ),
वर्ष के श्रेष्ठ वॉयस ब्लॉगर का सम्मानः अर्चना चाव जी (ब्लॉग : मेरे मन की) और गिरीश बिल्लोरे मुकुल, (ब्लॉग : मिसफिट सीधी बात) को संयुक्त रूप से,
वर्ष के श्रेष्ठ विज्ञान कथा लेखक का सम्मान : दशर्न लाल बवेजा (ब्लॉग : विज्ञान गतिविधियाँ ),
वर्ष के श्रेष्ठ टिप्पणीकार (पुरुष) का सम्मान : धीरेन्द्र (ब्लॉग : मेरा मन, काव्यांजलि, फुहार ),
वर्ष की श्रेष्ठ टिप्पणीकार (महिला) का सम्मान : सीमा सिंघल (ब्लॉग : सदा),
वर्ष के श्रेष्ठ पत्रकार का सम्मान : अमलेंदु उपाध्यायः संपादक (वेब पत्रिका हस्तक्षेप),
वर्ष के श्रेष्ठ अनुवादक का सम्मान : सिद्धेश्वर सिंह (ब्लॉग : कर्मनाशा),
वर्ष के चर्चित ब्लॉगर (पुरुष) का सम्मान : शाहनवाज (ब्लॉग : प्रेम रस),
वर्ष की चर्चित ब्लॉगर (महिला) का सम्मान :रंजना (रंजू) भाटिया (ब्लॉग :कुछ मेरी कलम से),
वर्ष के श्रेष्ठ एग्रीगेटर का सम्मान : (हमारी वाणी) ।
विशोष ब्लॉग प्रतिभा के अंतर्गत : कनिष्क कश्यप( हिंदुस्तान का दर्द), सुनीता सानू, (मन पखेरू फिर उड़ गया), निर्मल गुप्त (कांवकांव), अल्का सैनी(अल्का सैनी की कहानियाँ), कुँवर कुसुमेश( Kunwar Kusumesh), मुकेश कुमार तिवारी (कवितायन), डॉ. प्रीत अरोरा (मेरी साधना) और डॉ हरीश अरोड़ा (साहित्यकार संसद)

परिकल्पना ब्लॉगर दशक सम्मान-2012
दशक के ब्लॉगर : पूर्णिमा वर्मन, समीर लाल समीर(ब्लॉग : उड़न तश्तरी ),रवि रतलामी (ब्लॉग : छींटे और बौछारें), रश्मि प्रभा (ब्लॉग : मेरी भावनाएं )और अविनाश वाचस्‍पति।
दशक के ब्लॉग :
(उड़न तश्तरी) : ब्लॉगर समीर लाल 'समीर॔, (ब्लॉग्स इन मीडिया) : ब्लॉगर बी.एस. पावला,(नारी/ NAARI ) ब्लॉगर रचना, (साई ब्लॉग) ब्लॉगर डॉ. अरविंद मिश्र, (साइंस ब्लॉगर असोसिएशन) : ब्लॉगर डॉ अरविंद मिश्र, डॉ. जाकिर अली रजनीश।
दशक के ब्लागर दंपत्ति : (कृष्ण कुमार यादव )और (आकांक्षा यादव) 

ब्लॉगोत्सव (तृतीय)


             इस वर्ष यह उत्सव क्रमश: परिकल्पनावटवृक्ष और परिकल्पना ब्लॉगोत्सव पर एक साथ आयोजित हुआ । दिनांक 01.12.2012 से दिनांक 01.01.2013 तक आयोजित इस उत्सव का संचालन मैंने यानि  रश्मि प्रभा ने किया। अवकाश की तिथि को छोडकर पच्चीस दिनों की इन भव्य प्रस्तुतियों  में कुल 155 पोस्ट प्रकाशित हुये । 565 रचनाकारों ने हिस्सा लिया । कुछ महत्वपूर्ण शख़्सियतों हम रूबरू भी हुये , जिसमें प्रमुख हैं सुर साम्राज्ञी लता मंगेसकर,अरुण कमल,मैत्रेयी पुष्पा,नरेश सक्सेना,प्रताप सहगल,प्रो कृष्ण कुमार गोस्वामी,दीक्षित दनकौरी मनीषा कुलश्रेष्ठ,सुभाष नीरव,डॉ अनीता कपूर, महेंद्र भटनागर,अभिनेत्री साधना सिंह आदि । 

परिकल्पना सम्मान (तृतीय) हेतु चयन 

परिकल्पनापरिकल्पना ब्लागोत्सव और वटवृक्ष के इस ऐतिहासिक मंच पर -
1दिसम्बर से अब तक कई विषयों से सम्बंधित रचनाएँ लिखे और पढ़े गए - 
कहानी,कविता,संस्मरण,लघुकथा,समीक्षा,क्षणिकाएं ,हाइकु,आलेख,व्यक्तित्व विश्लेषण, ...... 
अपनी पसंद के नाम लिखते जाएँ ....... 
निःसंदेह , सबकुछ ध्यान में रखते हुए अंतिम निर्णय हमारा,
विशेषकर मेरा होगा (रवीन्द्र प्रभात जी के अनुसार). 

शिकायतें कभी खत्म नहीं होतीं,उनका भी अपना एक स्रोत है .... लहरें घातक ना हों,इसलिए पहला वोट आपका - फिर उस आधार पर मेरा !

आपकी-
रश्मि प्रभा 

44 comments:

  1. बढिया आयोजन है मेरी शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस उत्सव के माध्यम से रवीन्द्र जी ने नि:संदेह ब्लॉग पर सक्रिय लेखकों को एक वृहद मंच दिया है । इस वर्ष का उत्सव कई मायनों मेन उल्लेखनीय रहा, आपका संचालन बिलकुल नया -नया सा था । पूरी टीम को ढेर सारी बधाइयाँ !

    उत्तर देंहटाएं
  3. बस दुष्यंत साहब का एक शेर कहना चाहूँगा, की -
    मेरे सीने में नहीं तो तेरे सीने में सही, हो कहीं भी आग फिर भी आग जलनी चाहिए । बहुत-बहुत बधाइयाँ !

    उत्तर देंहटाएं
  4. परिकल्पना सम्मान ने बहुत सारे ब्लॉग-लेखकों को एक स्थान पर एकत्र कर सबसे परिचित कराने में अग्रणी भूमिका निभायी। सबके लिए एक वृहद अवसर-स्थापित ब्लॉगरों के लिए भी और नवोदित के लिए भी।
    उत्सव ही जिसका नाम हो...फिर अनेकों भंगिमायें स्वतः ही इसमें समा जाती हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. आदरणीय,रवीन्द्र प्रभात जी को उनके काम के लिये साधुवाद
    आदरणीया,रश्मि प्रभा जी का बहुत बहुत आभार,जिन्होंने मुझे
    ब्लॉग लिखना पढना सिखाया
    जब से परिकल्पना से जुड़ा हूं ,नियमित पढ़ रहा हूं,सार्थक,पठनीय
    रचनाओं का संग्रह प्रत्येक अंक में पढने को मिला है .
    यह कह पाना बहुत मुश्किल है कि कौन श्रेष्ठ है और कौन नहीं
    सभी रचनाकारों को बधाई।
    प्रभात जी,रश्मि जी का पुनः आभार

    उत्तर देंहटाएं
  6. सभी ब्लॉग-लेखकों को एक ही मंच पर लाने का बहुत सराहनीय प्रयास...शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  7. परिकल्‍पना उत्‍सव ... जिसमें 155 पोस्ट प्रकाशित हुये और 565 रचनाकारों ने हिस्सा लिया, इस संख्‍या पर जब मेरी दृष्टि जाती है तो सबसे पहले तो आपके श्रम को नमन करने का जी चाहता है ...
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुस्वागतम एवं शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  9. Ravindra sir aur Rashmi di ka abhari hoon jo itne bade platform par khud ko dekh paya.... :)
    shubhkamneyn...

    उत्तर देंहटाएं
  10. प्रयास कभी विफल नहीं जाता। यह आपने साबित कर दिया है। आपके इस भागीरथी प्रयास के लिए मैं आपको अनंत शुभकामनाएँ देता हूँ और यह कामना करता हूँ कि यह प्रयास, संकल्प में बदलकर प्रतिवर्ष ऐसे ही मनाया जाए। सार रूप में यही कहना चाहूँगा कि यह उत्सव सर्वोत्तम रहा और सर्वोत्तम से उत्तम कुछ भी नहीं होता।

    उत्तर देंहटाएं
  11. नि‍:संदेह आपका काम बहुत महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि हि‍न्‍दी में लेखन और हि‍न्‍दी का प्रकाशन दो अलग-अलग वि‍धाएं हैं.

    प्रकाशन, वि‍धा इसलि‍ए है क्‍योंकि इसके बारे में केवल प्रकाशक ही जानता है कि वह कि‍से और क्‍यों प्रकाशि‍त कर रहा है/ करता है. प्रकाशन का लेखक/ लेखन के स्‍तर से कुछ लेना देना नहीं होता -- कूड़ा भी छप जाता है /मोती भी यहां-वहां पड़ रह जाते हैं. ब्लॅाग की दुनि‍या ने पहली बार रचनाकर्मी को तथाकथि‍त वर्चस्‍वी प्रकाशक से मुक्‍त कि‍या है और पाठक को लेखक से बि‍ना कि‍सी मध्‍यस्‍थ के सीधे जोड़ा है.

    ऐसे में आपका नि‍ष्‍काम लेखा-जोखा बहुत महत्‍वपूर्ण हो जाता है. यह दस्‍तावेज़ है आज के रचनाकर्म का. प्रकाशन से अभि‍भूत बहुत से लेखकों-प्रकाशकों को इस नई दुनि‍या का अभी भी पता चल ही रहा है. कई प्रकाशकों को यह भी पता चलने लगा है कि जो वे छापते आए हैं केवल वही छापने लायक नहीं है, उसके बाहर भी एक बहुत कहीं बड़ी दुनि‍या है. वि‍भि‍न्‍न समाचार पत्रों द्वारा ब्‍लॉगों से रचनाएं उड़ा कर छापना आम हो गया है, तो कुछ ने बाक़ायदा ब्‍लॉग संबंधि‍त कॉलम/पृष्‍ठ ही प्रकाशि‍त करने प्रारम्‍भ कर दि‍ए हैं.
    आपके प्रयासों को साधुवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  12. आपकी जीवटता और आपके श्रम को नमन है ………आयोजन के लिये हार्दिक शुभकामनायें …………कोई भी कार्य बिना लगन और श्रम के पूरा नही होता …………साधुवाद

    उत्तर देंहटाएं
  13. भागीरथ प्रयास ... आलोचनाएं तो होती रहेंगी ... कुछ तो लोग कहेंगे ... लोगों का काम है कहना ... आप अपने माध्यम से सेवा करते जाएं भाषा की साहित्य की ...
    शुभकामनाओं सहित ...

    उत्तर देंहटाएं
  14. दशक के ब्लॉग :
    (उड़न तश्तरी) : ब्लॉगर समीर लाल 'समीर॔, (ब्लॉग्स इन मीडिया) : ब्लॉगर बी.एस. पावला, ) ब्लॉगर रचना, (साई ब्लॉग) ब्लॉगर डॉ. अरविंद मिश्र, (साइंस ब्लॉगर असोसिएशन) : ब्लॉगर डॉ अरविंद मिश्र, डॉ. जाकिर अली रजनीश।


    please recheck this paraa and correct it

    उत्तर देंहटाएं
  15. अभी इस राख में चिन्गारियाँ आराम करती हैं - ब्लॉग बुलेटिन आज की ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  16. नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं
    आपकी यह पोस्ट 3-1-2013 को चर्चा मंच पर चर्चा का विषय है
    कृपया पधारें

    उत्तर देंहटाएं
  17. इतने सराहनीय आयोजन के लिए शुभ कामनाएं व बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  18. दी आपको नमन...
    आपकी उंगलियां थामे हम भी कुछ कदम चल ही गए....
    ढेरों शुभकामनाएँ और बधाई.
    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  19. सही तो है -
    (उड़न तश्तरी) : ब्लॉगर समीर लाल 'समीर॔,
    (ब्लॉग्स इन मीडिया) : ब्लॉगर बी.एस. पावला,
    (नारी/ NAARI ) ब्लॉगर रचना,
    (साई ब्लॉग) ब्लॉगर डॉ. अरविंद मिश्र,
    (साइंस ब्लॉगर असोसिएशन) : ब्लॉगर डॉ अरविंद मिश्र, डॉ. जाकिर अली रजनीश।

    उत्तर देंहटाएं
  20. नमन है आप लोगों के श्रम और पैनी नजर को..बहुत बहुत शुभकामनाएं और बधाई..

    उत्तर देंहटाएं
  21. शुभकामनाएँ और बधाई.
    500 से ऊपर रचनाएँ प्रकाशित करना वास्तव में बड़ी उपलब्धि है.

    उत्तर देंहटाएं
  22. ऊपर 500 से अधिक रचनाकारों द्वारा 150 से अधिक रचनाएँ.. पढ़ें

    उत्तर देंहटाएं
  23. नव वर्ष की शुभकामना....बधाई .आप लोगों को..आयोजन ..बहुत बहुत शुभकामनाएं और बधाई..


    उत्तर देंहटाएं
  24. शुभकामनाएं आप सब को. आयोजन सफल हो

    उत्तर देंहटाएं
  25. चलता रहे कारवाँ खरामा खरामा .आभार साझा करने के लिए .

    उत्तर देंहटाएं
  26. शुभकामाए आप सब को एवं नववर्ष की बधाई --

    उत्तर देंहटाएं
  27. सुस्वागतम एवं शुभकामनाएं..,

    hum bhi intjaar main hain

    उत्तर देंहटाएं
  28. ab sahii haen pehlae missing thaa maene wahii cut paste kiyaa thaa jo pehlae thaa


    thanks

    उत्तर देंहटाएं
  29. शुभकामनाएँ!
    2013 मंगलमय हो!
    2012 की गल्तियाँ न दुहराई जायें!
    सादर!

    उत्तर देंहटाएं
  30. नव वर्ष २०१३ मंगलमय हो, आयोजन हेतु शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  31. Nav varsh ki hardik shubhkamnayen.... Aapka yogdan srahniy hai...sabhi smmaniy bloggers ko badhai...

    उत्तर देंहटाएं
  32. आपका यह कदम .....हमारे जैसे कई नए ब्लोगर्स को एक नई पहचान , एक नया आत्म विश्वास देगा ....बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  33. बहुत बढ़िया आयोजन ..
    हार्दिक शुभकामनाये!

    उत्तर देंहटाएं
  34. मेरी हार्दिक शुभकामनाएं..बहुत बढ़ि‍या आयोजन

    उत्तर देंहटाएं
  35. आपके यह प्रयास वाकई सराहनीय है! जहाँ तक आलोचनाओं की बात है तो आलोचनाएँ हमेशा ही और अच्छा करने के लिए प्रेरित करती हैं, इसलिए वह भी साथ-साथ होनी चाहिए। वैसे भी कोई भी बड़ा कार्यक्रम थोड़ी-बहुत कमियों के बिना संपन्न होना संभव नहीं होता है।

    बहुत-बहुत शुभकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  36. ऐसे प्रयास निरंतर जारी रहें ...आभार सहित

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top