परिकल्पना समय (हिन्दी मासिक) का सितंबर अंक प्रेस में चला गया है,  इस अंक में नेपाल और नेपाली साहित्य के साथ साथ गणतन्त्र नेपाल में हिन्दी की स्थिति की व्यापक समीक्षा की गयी है। साथ ही अभिव्यक्ति का नया माध्यम ब्लॉग पर अत्यधिक पठनीय सामग्रियों को स्थान दिया गया है। 

उल्लेखनीय है, कि   आगामी 13-14-15 सितंबर 2013 को काठमांडू में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलन सह परिकल्पना सम्मान समारोह को दृष्टिगत रखते हुये यह अंक न्यू मीडिया पर केन्द्रित किया गया है। 

चलिये अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलन से संबंधित कुछ जानकारियाँ (प्रतिभागियों हेतु) साझा करते हैं : 


कार्यक्रम 13 सितंबर को अपराहन बजे से शुरू होगा जो रात्रि बजे तक चलेगा। अगले दिन पुन: सुबह 10 बजे से शुरू होकर तीन सत्रों मे रात्रि बजे तक जारी रहेगा । 13 सितंबर को रात्रि में संगीत का कार्यक्रम और 14 सितंबर को रात्रि में कवि सम्मेलन प्रस्तावित है । 15 सितंबर का दिन पूर्णरुपेण पर्यटन के लिए सुरक्षित रखा गया है । 

 कार्यक्रम स्थल काठमाण्डू स्थित नयी सड़क पर स्थित राजभवन में प्रस्तावित है तथा रहने-ठहरने तथा नाश्ता-भोजन हेतु समस्त प्रतिभागियों के लिए "मारवाड़ी सेवा सदन" न्यू रोडरंजना सिनेमा हॉल के सामनेकाठमांडू (नेपाल) में व्यवस्था की गयी है जो कार्यक्रम स्थल से केवल 500 मीटर की दूरी पर है । एयरपोर्ट से किलोमीटर तथा बस अड्डा से किलो मीटर की दूरी पर है। बस से आने वाले प्रतिभागी बस अड्डे से पहले यदि कलंकी में उतर जाएँ तो काली माटी चौक और त्रिपुरेश्वर होते हुये न्यू रोड पहुँच सकते हैं और यह दूरी केवल किलोमीटर होगी। 

विस्तृत जानकारी के लिए संपर्क करें : 


5 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा - बुधवार -4/09/2013 को
    मर्त्य देश के निवासी - हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः12 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया आप भी पधारें, सादर .... Darshan jangra

    उत्तर देंहटाएं
  2. अपेक्षित जानकारी देने के लिए आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  3. अपेक्षित जानकारी देने के लिए आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल में शामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल {रविवार} 8/09/2013 को मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | आपके नकारत्मक व सकारत्मक विचारों का स्वागत किया जायेगा | सादर ....ललित चाहार

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top